February 24, 2024

National

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान के सीएम भजनलाल ने जब से सीएम की कुर्सी संभाली है कोई ना कोई हादसा हो रहा है। पहले गोवर्धन जाते समय गाड़ी नाले में उतरी, उसके बाद जेल से मारने की धमकी मिल गई और अब खबर है इसी सप्ताह में मंगलवार को जब वह दिल्ली गए थे तब उनके कमरे में आग लग गई थी।

मीडिया रिपोटर्स की माने तो आधी रात को सीएम के कमरे में आग लगी जिसके बाद उन्हें बेल बजाकर सिक्योरिटी स्टाफ को बुलाना पड़ा था। तब आनन-फानन में आग को बुझाया गया। इस मामले की जांच के लिए कमेटी भी गठित कर दी गई है।

मीडिया रिपोटर्स की माने तो मंगलवार की रात सीएम भजनलाल दिल्ली में थे। रात को वो दिल्ली में जोधपुर हाउस में ठहरे हुए थे। उनके रूम में हीटर लगे थे। तभी इलेक्ट्रिक प्लग में शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लग गई। रात में 2 बजे धुआं निकलना शुरू हुआ तो सीएम की आंख खुली और सीएम ने बेल बजाई तो सिक्योरिटी स्टाफ ने आग बुझाई। इस मामले में एक जूनियर इंजीनियर को निलंबित कर दिया गया है और मामले की जांच के लिए कमेटी गठित कर दी गई है।

pc- aaj tak

खबर का अपडेट पाने के लिए हमारावाटसएपचैनल फोलो करें।

इंटरनेट डेस्क। संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू हो रहा है। इसके बेहद हंगामेदार रहने के आसार हैं। बता दें की तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में मिली हार से निराश विपक्ष अब संसद में सरकार को घेरने की कोशिश करेगा। इस मौके पर विपक्ष बेरोजगारी, महंगाई, मणिपुर हिंसा और जांच एजेंसियों के इस्तेमाल को लेकर हमला बोलेगी।

बता दें की सत्र के दौरान कई अहम बिलों के अलावा तृणमूल कांग्रेस सांसद महुआ मोइत्रा के निष्कासन की सिफारिश वाली रिपोर्ट भी पेश किए जाने की उम्मीद है। विपक्षी इंडिया गठबंधन के नेता संसद के अंदर और बाहर भाजपा से मुकाबले की अपनी रणनीति तैयार करने के लिए सोमवार सुबह बैठक करेंगे।

इधर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि अगर विपक्ष ने संसद को बाधित किया तो उसे इससे भी बुरे नतीजे भुगतने होंगे। सरकार ने शीतकालीन सत्र की 15 बैठकों के लिए भारी-भरकम विधायी एजेंडा पेश किया है।

pc- jagran

इंटरनेट डेस्क। पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में से चार के परिणाम आ चुके है और उनमें से तीन में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिला है। इन चुनावों के परिणाम आने के बाद पीएम मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित किया है। बता दें की मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ समेत तीन राज्यों में बीजेपी की शानदार जीत हुई है।

ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के दलों पर निशाना साधा है। पीएम मोदी ने बीजेपी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि ये चुनाव कांग्रेस और घमंडिया गठबंधन के लिए बहुत बड़ा सबक हैं। कांग्रेस समेत विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ऐसी पार्टियों को आज चेतावनी दी गई है कि सुधर जाइए, वरना जनता आज आपको चुन-चुनकर साफ कर देगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह चुनाव नतीजे कांग्रेस और उसके घमंडिया गठबंधन के लिए भी बहुत बड़ा सबक है। सबक यह है कि सिर्फ कुछ परिवारवादियों के मंच पर एक साथ आ जाने से फोटो कितनी अच्छी निकल जाए, देश का भरोसा नहीं जीता जाता।

pc- hindustan

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिल चुका है और उसके साथ ही अब सीएम को लेकर रेस शुरू हो चुकी है। बता दें की चुनाव जीतने के साथ ही अब पार्टी को यह तय करना है की सीएम किसे बनाया जाए। हालांकि इसका फैसला तो दिल्ली से ही होगा। लेकिन पांच नाम ऐसे है जो अब चर्चाओं में आ चुके है। आइए जानते है उनके बारे में।

वसुंधरा राजे
राजस्थान बीजेपी में मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में एक नाम पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का भी है। हालांकि चुनाव से पहले से ही पार्टी ने उन्हें साइड लाइन कर रखा था।

दीया कुमारी
राजस्थान की विद्याधरनगर सीट से चुनाव लड़ विजय रही सांसद दीया कुमारी को सीएम के रूप में देखा जा रहा है।

महंत बालकनाथ
इसके साथ ही राजस्थान में बीजेपी सांसद और महंत बालकनाथ को भी सीएम पद की रेस में माना जा रहा है।

किरोड़ी लाल मीणा
राजस्थान में बीजेपी से सीएम के लिए एक नाम सांसद किरोड़ी लाल मीणा की भी है। किरोडी लाल मीणा जमीन से जुड़े नेता हैं।

गजेंद्र सिंह शेखावत
केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत को भी राजस्थान के सीएम के तौर पर देखा जा रहा है।

pc-indiatomorrow.net

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान विधानसभा चुनावों के परिणाम आ चुके है और उसके साथ ही भाजपा को पूर्ण बहुमत मिल गया है। लेकिन इस बार भाजपा के उन नेताओं को भी हार का सामना करना पड़ा है जो दोनोें ही सीएम पद के रेस में थे और इन बीते पांच सालों में उन्होंने राजस्थान में भाजपा को जिंदा रखने की भरपूर कोशिश की। इस कोशिश का फल यह हुआ की पार्टी जीत गई, लेकिन दोनों नेता चुनाव हार गए।

जी हां जयपुर के आमेर में और चूरू के तारानगर में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। इन दोनों ही सीटों पर बीजेपी के दो दिग्गज नेताओं को हार का सामना करना पड़ा है। तारानगर से नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ और आमेर में सतीश पूनिया की हार हुई है।

बता दें की ये दोनों ही नेता सीएम की रेस में थे। बता दें की सतीश पूनिया को कांग्रेस के प्रशांत शर्मा ने हराया है तो वहीं चूरू जिले की तारानगर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार नरेंद्र बुड़ानिया ने राजेंद्र राठौड़ को हराकर जीत हासिल की है।

pc-socialnews.xyz

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में विधानसभा चुनाव के परिणाम आ चुके है और भाजपा ने यहां बहुमत हासिल कर लिया है। पार्टी को 115 सीटों पर जीत मिली है तो कांग्रेस 69 सीटों पर ही अटक गई है। इसके साथ ही रविवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बीजेपी को बहुमत का जनादेश मिलने के साथ ही गहलोत राज्यपाल कलराज मिश्र के आवास पर पहुंचे और उनको अपना इस्तीफा दे दिया।

बता दें की राजस्थान में 200 सीटों में से 199 पर चुनाव हुए हैं। यहां राज्य की रिवायत के मुताबिक सत्ता परिवर्तन तय हो चुका है। इससे पहले राजस्थान विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की जीत तय होती दिखने के बाद अशोक गहलोत ने चुनाव परिणामों को अप्रत्याशित बताते हुए कहा था कि वह इसे विनम्रतापूर्वक स्वीकार करते हैं।

कांग्रेस नेता ने एक्स पर लिखा, राजस्थान की जनता द्वारा दिए गए जनादेश को हम विनम्रतापूर्वक स्वीकार करते हैं। यह सभी के लिए एक अप्रत्याशित परिणाम है। उन्होंने कहा, यह हार दिखाती है कि हम अपनी योजनाओं, कानूनों और नवाचारों को जनता तक पहुंचाने में पूरी तरह कामयाब नहीं रहे।

pc-mpbreakingnews.in

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान विधानसभा चुनाव के परिणाम आ चुके है और भाजपा के सिर पर सहरा बंध चुका है। पार्टी को बहुमत मिल चुका है, राजस्थान में 199 सीटों पर विधानसभा चुनाव हुए थे, जिनमें से बीजेपी ने राज्य में 115 सीटें जीतकर स्पष्ट बहुमत पा लिया है। वहीं सत्ता में काबिज रही कांग्रेस पार्टी केवल 69 सीटें ही जीतने में कामयाब रही। ऐसे में देख लेते है किस पार्टी को किस सीट से जीत मिली है।

निर्वाचन क्षेत्र

जीते हुए प्रत्याशी

जीतने वाली पार्टी

हारने वाला प्रत्याशी

हारने वाली पार्टी

आदर्श नगर

रफीक खान

कांग्रेस

रवि कुमार नय्यर

बीजेपी

आहोर

छगनसिंह राजपुरोहित

बीजेपी

सरोज चौधरी

कांग्रेस

अजमेर-उत्‍तर

वासुदेव देवनानी

बीजेपी

महेेन्‍द्र सिंह रलावता

कांग्रेस

अजमेर-दक्षिण

अनिता भदेल

बीजेपी

डॉ. द्रोपदी कोली

कांग्रेस

अलवर ग्रामीण

टीकाराम जूली

कांग्रेस

जयराम जाटव

बीजेपी

अलवर शहर

संजय शर्मा

बीजेपी

अजय अग्रवाल

कांग्रेस

आमेर

प्रशान्त शर्मा

कांग्रेस

सतीश पूनियां

बीजेपी

अंता

कंवरलाल

बीजेपी

प्रमोद जैन

कांग्रेस

अनूपगढ़

शिमला देवी

कांग्रेस

संतोष बावरी

बीजेपी

आसीन्‍द

जब्बर सिंह सांखला

बीजेपी

हगामीलाल मेवाडा

कांग्रेस

आसपुर

उमेश मीणा

B.A.P. i

गोपीचन्द

बीजेपी

बागीदोरा

महेन्द्रजीत सिंह मालविया

कांग्रेस

जयकृष्ण पटेल

B.A.P. i

बगरू

कैलाश चन्द वर्मा

बीजेपी

गंगा देवी

कांग्रेस

बाली

पुष्पेन्द्र सिंह

बीजेपी

बद्रीराम जाखड़

कांग्रेस

बामनवास

इन्द्रा

कांग्रेस

राजेन्द्र

बीजेपी

बांदीकुई

भागचन्द टांकड़ा

बीजेपी

गजराज खटाणा

कांग्रेस

बानसूर

देवी सिंह शेखावत

बीजेपी

रोहिताश कुमार

ASP (कांशीराम) i

बांसवाड़ा

अर्जुनसिंह बामणीया

कांग्रेस

धनसिंह रावत

बीजेपी

बारां-अटरू

राधेश्याम बैरवा

बीजेपी

पानाचन्द मेघवाल

कांग्रेस

बाड़ी

जसवंत सिंह गुर्जर

बसपा

गिर्राज सिंह “मलिंगा”

बीजेपी

बड़ी सादड़ी

गोतम कुमार

बीजेपी

बद्री लाल जाट

कांग्रेस

बाड़मेर

डाo प्रियंका चौधरी

निर्दलीय

मेवाराम जैन

कांग्रेस

बसेड़ी

संजय कुमार

कांग्रेस

सुखराम

बीजेपी

बस्सी

लक्ष्मण

कांग्रेस

चंद्रमोहन मीना

बीजेपी

बयाना

डा. ऋतु बनावत

निर्दलीय

अमर सिंह

कांग्रेस

बायतू

हरीश चौधरी

कांग्रेस

उम्मेदा राम बेनिवाल

RLP

ब्‍यावर

शंकरसिंह रावत

बीजेपी

पारसमल जैन (पंच)

कांग्रेस

बेगूं

डाॅ. सुरेश धाकड़

बीजेपी

गुर्जर राजेन्द्र सिंह बिधुरी

कांग्रेस

बहरोड़

डॉ जसवन्त सिंह यादव

बीजेपी

बलजीत यादव

राष्ट्रीय जनता सेना

भादरा

संजीव कुमार

बीजेपी

बलवान पूनियां

CPI (M)

भरतपुर

डॉ॰ सुभाष गर्ग

RLD

विजय बंसल (पप्पू बन्डा)

बीजेपी

भीलवाड़ा

अशोक कुमार कोठारी

निर्दलीय

ओम प्रकाश नराणीवाल

कांग्रेस

भीम

हरिसिंह रावत पिता पन्ना सिंह

बीजेपी

सुदर्शन सिंह रावत

कांग्रेस

भीनमाल

समरजीत सिंह

कांग्रेस

पूरा राम

बीजेपी

भोपालगढ़

गीता बरवड़

कांग्रेस

पुखराज गर्ग

RLP

बीकानेर पूर्व

सिद्धि कुमारी

बीजेपी

यशपाल गहलोत

कांग्रेस

बीकानेर पश्चिम

जेठानन्द व्यास

बीजेपी

बुलाकी दास कल्ला

कांग्रेस

बिलाड़ा

अर्जुन लाल

बीजेपी

मोहनलाल कटारिया

कांग्रेस

बून्‍दी

हरिमोहन शर्मा

कांग्रेस

अशोक डोगरा

बीजेपी

चाकसू

रामावतार बैरवा

बीजेपी

वेद प्रकाश सोलंकी

कांग्रेस

छबड़ा

प्रताप सिंह सिंघवी

बीजेपी

करणसिंह

कांग्रेस

चित्‍तौड़गढ़

चन्द्रभान सिंह चौहान

निर्दलीय

सुरेन्द्र सिंह जाड़ावत

कांग्रेस

चौहटन

आदू राम मेघवाल

बीजेपी

पदमाराम

कांग्रेस

चोमू

डॉ. शिखा मील बराला

कांग्रेस

रामलाल शर्मा

बीजेपी

चौरासी

राजकुमार रोत

B.A.P. i

सुशील कटारा

बीजेपी

चूरू

हरलाल सहारण

बीजेपी

रफीक मंडेलिया

कांग्रेस

सिविल लाईन्‍स

गोपाल शर्मा

बीजेपी

प्रताप सिंह खाचरियावास

कांग्रेस

डग

कालूराम

बीजेपी

चेतराज

कांग्रेस

दांतारामगढ़

वीरेन्द्र सिंह

कांग्रेस

गजानंद कुमावत

बीजेपी

दौसा

मुरारी लाल मीना

कांग्रेस

शंकर लाल शर्मा

बीजेपी

डीडवाना

यूनुस खान

निर्दलीय

चेतन सिंह चौधरी

कांग्रेस

डीग-कुम्हेर

डा0 शैलेश सिंह

बीजेपी

विश्‍वेन्द्र सिंह

कांग्रेस

डेगाना

अजय सिंह

बीजेपी

विजयपाल मिर्धा

कांग्रेस

देवली-उनियारा

हरीश चन्द्र मीना

कांग्रेस

विजय सिंह बैंसला

बीजेपी

धरियावद

थावर चन्द

B.A.P. i

कन्हैया लाल

बीजेपी

धोद

गोरधन

बीजेपी

पेमा राम

CPI (M)

धौलपुर

शोभारानी कुशवाह

कांग्रेस

रीतेश शर्मा

बसपा

दूदू

डाॅ. प्रेम चन्द बैरवा

बीजेपी

बाबूलाल नागर

कांग्रेस

श्रीडूंगरगढ़

ताराचन्द

बीजेपी

मंगलाराम गोदारा

कांग्रेस

डूंगरपुर

गणेश घोगरा

कांग्रेस

कान्तिलाल रोत

B.A.P. i

फतेहपुर

हाकम अली खां

कांग्रेस

श्रवण चौधरी पुत्र प्रेम सिंह

बीजेपी

गंगानगर

जयदीप बिहाणी

बीजेपी

करुणा अशोक चांडक

निर्दलीय

गंगापुर

रामकेश

कांग्रेस

मानसिंह गुर्जर

बीजेपी

गढ़ी

कैलाशचन्द्र मीणा

बीजेपी

शंकरलाल चरपोटा

कांग्रेस

घाटोल

नानालाल निनामा

कांग्रेस

अशोक कुमार

B.A.P. i

गोगून्‍दा

प्रताप लाल भील

बीजेपी

डॉ. मांगीलाल गरासिया

कांग्रेस

गुड़ा मालानी

कृष्‍ण कुमार के.के. विश्‍नोई

बीजेपी

कर्नल सोनाराम चौधरी

कांग्रेस

हनुमानगढ़

गणेशराज बंसल

निर्दलीय

अमित सहु

बीजेपी

हवा महल

बालमुकुन्दाचार्य

बीजेपी

आर.आर. तिवाड़ी

कांग्रेस

हिन्‍डौन

अनीता जाटव

कांग्रेस

राजकुमारी जाटव

बीजेपी

हिण्‍डोली

अशोक

कांग्रेस

प्रभू लाल सैनी

बीजेपी

जहाजपुर

गोपीचन्द मीणा

बीजेपी

धीरज गुर्जर

कांग्रेस

जैसलमेर

छोटूसिंह

बीजेपी

रूपाराम

कांग्रेस

जैतारण

अविनाश गहलोत

बीजेपी

सुरेन्द्र गोयल

कांग्रेस

जालोर

जोगेश्वर गर्ग

बीजेपी

रमीला मेघवाल

कांग्रेस

जमवा रामगढ़

महेन्द्र पाल मीना

बीजेपी

गोपाल लाल मीना

कांग्रेस

जायल

डॉ. मंजू बाघमार

बीजेपी

डॉ. मंजु देवी

कांग्रेस

झाड़ोल

बाबूलाल खराड़ी

बीजेपी

हीरालाल दरांगी

कांग्रेस

झालरापाटन

वसुन्धरा राजे

बीजेपी

रामलाल

कांग्रेस

झोटवाड़ा

कर्नल राज्यवर्धन राठौड़

बीजेपी

अभिषेक चौधरी

कांग्रेस

झुन्‍झुनू

बृजेन्द्र सिंह ओला

कांग्रेस

निषीत कुमार

बीजेपी

जोधपुर

अतुल भंसाली

बीजेपी

मनीषा पंवार

कांग्रेस

कामां

नौक्षम

बीजेपी

मुखत्यार अहमद

निर्दलीय

कपासन

अर्जुन लाल जीनगर

बीजेपी

शंकर लाल बैरवा

कांग्रेस

करौली

दर्शन सिंह

बीजेपी

लाखन सिंह

कांग्रेस

कठूमर

रमेश खींची

बीजेपी

संजना

कांग्रेस

केकड़ी

शत्रुघन गौतम

बीजेपी

डॉ. रघु शर्मा

कांग्रेस

केशोरायपाटन

चुन्नीलाल सी.एल. प्रेमी बैरवा

कांग्रेस

चन्द्रकान्ता मेघवाल

बीजेपी

खाजूवाला

डॉ विश्‍वनाथ मेघवाल

बीजेपी

गोविंदराम मेघवाल

कांग्रेस

खण्‍डार

जितेन्द्र कुमार गोठवाल

बीजेपी

अशोक

कांग्रेस

खंडेला

सुभाष मील

बीजेपी

महादेव सिंह

कांग्रेस

खानपुर

सुरेश गुर्जर

कांग्रेस

नरेन्द्र नागर

बीजेपी

खेरवाड़ा

डॉ. दयाराम परमार

कांग्रेस

नाना लाल अहारी

बीजेपी

खेतड़ी

धर्मपाल

बीजेपी

मनोज घुमरिया

बसपा

खींवसर

हनुमान बेनीवाल

RLP

रेवन्तराम डांगा

बीजेपी

किशन पोल

अमीन कागजी

कांग्रेस

चंद्र मनोहर बटवाड़ा एडवोकेट

बीजेपी

किशनगंज

ललित मीना

बीजेपी

निर्मला

कांग्रेस

किशनगढ़

विकास चौधरी

कांग्रेस

सुरेश टाक

निर्दलीय

किशनगढ़ बास

दीपचन्द खैरिया

कांग्रेस

रामहेत सिंह यादव

बीजेपी

कोलायत

अंशुमान सिंह भाटी

बीजेपी

भंवर सिंह भाटी

कांग्रेस

कोटा-उत्‍तर

शान्ती धारीवाल

कांग्रेस

प्रहलाद गुंजल

बीजेपी

कोटा-दक्षिण

संदीप शर्मा

बीजेपी

राखी गौतम

कांग्रेस

कोटपूतली

हंसराज पटेल

बीजेपी

राजेन्द्र सिंह यादव

कांग्रेस

कुम्‍भलगढ़

सुरेंद्र सिंह राठौड़

बीजेपी

योगेन्द्र सिंह परमार

कांग्रेस

कुशलगढ़

रमीला खड़ीया

कांग्रेस

भीमा भाई

बीजेपी

लक्ष्‍मणगढ़

गोविन्द सिंह डोटासरा

कांग्रेस

सुभाष महरिया

बीजेपी

लाडनूं

मुकेश भाकर

कांग्रेस

करणी सिंह

बीजेपी

लाडपुरा

कल्पना देवी

बीजेपी

नईमुद्दीन गुडडू

कांग्रेस

लालसोट

रामबिलास

बीजेपी

परसादीलाल

कांग्रेस

लोहावट

गजेन्द्र सिंह

बीजेपी

किसना राम व‍िश्‍नोई

कांग्रेस

लूणी

जोगाराम पटेल

बीजेपी

महेन्द्र बिश्‍नोई

कांग्रेस

लूणकरनसर

सुमित गोदारा

बीजेपी

डा0 राजेन्द्र मूण्ड

कांग्रेस

महवा

राजेन्द्र

बीजेपी

ओमप्रकाश हुड़ला

कांग्रेस

मकराना

जाकिर हुसैन गैसावत

कांग्रेस

सुमिता भींचर

बीजेपी

मालपुरा

कन्हैयालाल

बीजेपी

घासी लाल चौधरी

कांग्रेस

मालवीय नगर

कालीचरण सराफ

बीजेपी

अर्चना शर्मा

कांग्रेस

माण्‍डल

उदयलाल भडाणा

बीजेपी

राम लाल जाट

कांग्रेस

माण्‍डलगढ

गोपाल लाल शर्मा

बीजेपी

विवेक धाकड़

कांग्रेस

मंडावा

कुमारी रीटा चौधरी

कांग्रेस

नरेन्द्र कुमार

बीजेपी

मनोहर थाना

गोविन्द प्रसाद

बीजेपी

कैलाश चन्द

निर्दलीय

मारवाड़ जंक्‍शन

केसाराम चौधरी

बीजेपी

खुशवीरसिंह

कांग्रेस

मसूदा

विरेन्द्र सिंह

बीजेपी

राकेश

कांग्रेस

मावली

पुष्कर लाल डांगी

कांग्रेस

कृष्णगोपाल पालीवाल

बीजेपी

मेड़ता

लक्ष्मण राम

बीजेपी

शिवरतन (चिमन वाल्मीकि)

कांग्रेस

मुण्‍डावर

ललित यादव

कांग्रेस

मंजीत धर्मपाल चौधरी

बीजेपी

नदबई

जगत सिंह

बीजेपी

जोगिंदर सिंह अवाना

कांग्रेस

नगर

जवाहर सिंह बेधम

बीजेपी

वाजिब अली

कांग्रेस

नागौर

हरेन्द्र मिर्धा

कांग्रेस

ज्योति मिर्धा

बीजेपी

नसीराबाद

रामस्वरूप लाम्बा

बीजेपी

शिवप्रकाश गुर्जर

कांग्रेस

नाथद्वारा

विश्‍वराज सिंह मेवाड़

बीजेपी

सी. पी. जोशी

कांग्रेस

नवलगढ़

विक्रम सिंह जाखल

बीजेपी

डॉ. राजकुमार शर्मा

कांग्रेस

नावां

विजय सिंह

बीजेपी

महेन्द्र चौधरी

कांग्रेस

नीम का थाना

सुरेश मोदी

कांग्रेस

प्रेम सिंह बाजौर

बीजेपी

निम्‍बाहेड़ा

श्रीचन्द कृपलानी

बीजेपी

अंजना उदयलाल

कांग्रेस

निवाई

राम सहाय वर्मा (रेगर)

बीजेपी

प्रशान्त बैरवा

कांग्रेस

नोहर

अमित चाचाण

कांग्रेस

अभिषेक मटोरिया

बीजेपी

नोखा

सुशीला रामेश्‍वर डूडी

कांग्रेस

बिहारी लाल

बीजेपी

ओसियां

भैरा राम चौधरी(सियोल)

बीजेपी

दिव्या मदेरणा

कांग्रेस

पचपदरा

अरूण चौधरी

बीजेपी

मदन प्रजापत

कांग्रेस

पाली

भीम राज भाटी

कांग्रेस

ज्ञानचन्द पारख

बीजेपी

परबतसर

रामनिवास गावड़िया

कांग्रेस

मानसिंह किनसरिया

बीजेपी

फलौदी

पब्बाराम व‍िश्‍नोई

बीजेपी

प्रकाश चन्द्र छंगाणी

कांग्रेस

फुलेरा

विद्याधर सिंह

कांग्रेस

निर्मल कुमावत

बीजेपी

पिलानी

पितराम सिंह काला

कांग्रेस

राजेश कुमार दहिया

बीजेपी

पीलीबंगा

विनोद कुमार

कांग्रेस

धर्मेन्द्र कुमार

बीजेपी

पिंडवाड़ा आबू

समाराम

बीजेपी

लीलाराम ग्रासिया

कांग्रेस

पीपल्‍दा

चेतन पटेल कोलाना

कांग्रेस

प्रेमचंद गोचर

बीजेपी

पोकरण

प्रताप पुरी

बीजेपी

शाले मोहम्मद

कांग्रेस

प्रतापगढ़

हेमन्त मीणा

बीजेपी

रामलाल मीणा

कांग्रेस

पुष्‍कर

सुरेश सिंह रावत

बीजेपी

नसीम अख्तर

कांग्रेस

रायसिंह नगर

सोहन लाल नायक

कांग्रेस

बलवीर सिंह लूथरा

बीजेपी

राजाखेड़ा

रोहित बौहरा

कांग्रेस

नीरजा शर्मा

बीजेपी

राजगढ़-लक्ष्‍मणगढ़

मांगेलाल मीना

कांग्रेस

बन्ना राम मीना

बीजेपी

राजसमन्‍द

दीप्ति किरण माहेश्‍वरी

बीजेपी

नारायण सिंह भाटी

कांग्रेस

रामगंज मण्‍डी

मदन दिलावर

बीजेपी

महेन्द्र राजोरिया

कांग्रेस

रामगढ़

जुबेर खान

कांग्रेस

सुखवंत सिंह

ASP (कांशीराम)

रानीवाड़ा

रतन देवासी

कांग्रेस

नारायण सिंह देवल

बीजेपी

रतनगढ़

पूसाराम गोदारा

कांग्रेस

अभिनेश महर्षि

बीजेपी

रेवदर

मोतीराम

कांग्रेस

जगसी राम

बीजेपी

सादुलपुर

मनोज कुमार

बसपा

कृष्णा पूनियां

कांग्रेस

सादुलशहर

गुरवीर सिंह

बीजेपी

ओम बिश्‍नोई

निर्दलीय

सागवाड़ा

शंकरलाल डेचा

बीजेपी

मोहनलाल रोत

B.A.P.

सहाड़ा

लादु लाल पितलिया

बीजेपी

राजेन्द्र त्रिवेदी

कांग्रेस

सलूम्‍बर

अमृतलाल मीणा

बीजेपी

रघुवीर सिंह मीणा

कांग्रेस

सांचोर

जीवाराम चौधरी

निर्दलीय

सुखराम विश्‍नोई

कांग्रेस

सांगानेर

भजन लाल शर्मा

बीजेपी

पुष्पेन्द्र भारद्वाज

कांग्रेस

संगरिया

अभिमन्यु

कांग्रेस

गुरदीप सिहं

बीजेपी

सांगोद

हीरालाल नागर

बीजेपी

भानु प्रताप सिंह

कांग्रेस

सपोटरा

हंसराज मीना

बीजेपी

रमेश चंद मीना

कांग्रेस

सरदारपुरा

अशोक गहलोत

कांग्रेस

प्रोफेसर डॉ. महेन्द्र राठौड़

बीजेपी

सरदारशहर

अनिल कुमार शर्मा

कांग्रेस

राजकरन चौधरी

निर्दलीय

सवाई माधोपुर

किरोड़ी लाल

बीजेपी

दानिश अबरार

कांग्रेस

शाहपुरा

मनीष यादव

कांग्रेस

आलोक बेनीवाल

निर्दलीय

शाहपुरा

लालाराम बैरवा

बीजेपी

नरेन्द्र कुमार रेगर

कांग्रेस

शिव

रविन्द्र सिंह भाटी

निर्दलीय

फतेह खाँ

निर्दलीय

शेरगढ़

बाबूसिंह राठौड़

बीजेपी

मीना कंवर

कांग्रेस

सीकर

राजेन्द्र पारीक

कांग्रेस

रतनलाल जलधारी

बीजेपी

सिकराय

विक्रम बंशीवाल

बीजेपी

ममता भूपेश

कांग्रेस

सिरोही

ओटा राम देवासी

बीजेपी

संयम लोढ़ा

कांग्रेस

सिवाना

हमीर सिंह भायल

बीजेपी

सुनील परिहार

निर्दलीय

सोजत

शोभा चौहान

बीजेपी

निरंजन आर्य

कांग्रेस

सूरसागर

देवेन्द्र जोशी

बीजेपी

इंजी. शहजाद अय्यूब खान

कांग्रेस

श्रीमाधोपुर

झाबर सिंह खर्रा

बीजेपी

दीपेन्द्र सिंह

कांग्रेस

सुजानगढ़

मनोज कुमार

कांग्रेस

सन्तोष मेघवाल पत्नी मनोज कुमार

बीजेपी

सुमेरपुर

जोराराम कुमावत

बीजेपी

हरीशंकर

कांग्रेस

सूरजगढ़

श्रवण कुमार पुत्र गोकल राम

कांग्रेस

संतोष अहलावत

बीजेपी

सूरतगढ़

डूंगरराम गेदर

कांग्रेस

रामप्रताप कासनियां

बीजेपी

तारानगर

नरेन्द्र बुडानियां

कांग्रेस

राजेन्द्र राठौड़

बीजेपी

थानागाजी

कान्ति प्रसाद

कांग्रेस

हेमसिंह

बीजेपी

तिजारा

महन्त बालकनाथ

बीजेपी

इमरान खान

कांग्रेस

टोडाभीम

घनश्याम

कांग्रेस

रामनिवास मीना

बीजेपी

टोंक

सचिन पायलट

कांग्रेस

अजीत सिंह मेहता

बीजेपी

उदयपुर

ताराचन्द जैन

बीजेपी

प्रो. गौरव वल्लभ

कांग्रेस

उदयपुर ग्रामीण

फूल सिंह मीणा

बीजेपी

डॉ॰ विवेक कटारा

कांग्रेस

उदयपुरवाटी

भगवाना राम सैनी

कांग्रेस

शुभकरण चौधरी

बीजेपी

वल्‍लभ नगर

उदयलाल डांगी

बीजेपी

प्रीति गजेन्द्र सिंह शक्‍तावत

कांग्रेस

विद्याधर नगर

दिया कुमारी

बीजेपी

सीताराम अग्रवाल

कांग्रेस

विराटनगर

कुलदीप

बीजेपी

इन्द्राज सिंह गुर्जर

कांग्रेस

वैर

बहादुर सिंह

बीजेपी

भजनलाल जाटव

कांग्रेस

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान का जो इतिहास है वो इस बार भी कायम रहा है और वो ये की यहां हर पांच साल में सरकार बदलती है और इस बार भी ऐसा ही हुआ है। एक बार फिर से भाजपा ने कांग्रेस को हराकर यहां सत्ता हासिल कर ली है। राजस्थान की 200 में से 199 विधानसभा सीटों पर भाजपा ने 115 सीटों पर जीत दर्ज की है।

जबकि कांग्रेस को केवल 69 सीटें के साथ ही संतोष करना पड़ा। ऐसे में इस बार भी हर पांच साल में सरकार बदलने की सियासी रिवाज बरकरार रही। अशोक गहलोत इस बार अपनी जनकल्याणकारी योजनाओं को भी चुनाव में नहीं भुना पाए, इस बार प्रदेश में 1,800 से अधिक उम्मीदवारों ने अपनी किस्मत अजमाई थी।

बता दें की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र से 26396 वोटों से जीत गए, लेकिन अपनी सरकार बचाने में वो कामयाब नहीं हो सकेें। बता दें की इस बार राज्य की 199 सीट पर मतदान हुआ था, क्योंकि करणपुर सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार की मृत्यु के कारण उस सीट पर मतदान स्थगित कर दिया गया था।

pc- abp news

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में चुनावी गर्मी समाप्त होने के साथ ही अब मौसमी सर्दी बढ़ गई है और उसका कारण प्रदेश में सक्रिय नया पश्चिमी विक्षोभ है। बता दें की इस विक्षोभ के कारण ही प्रदेश में कई जिलों में बारिश देखने को मिली है। रविवार को मौसम का मिजाज बदला हुआ नजर आया। कोटा, बांसवाड़ा, उदयपुर, भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़ के कुछ हिस्सों में बारिश दर्ज की गई है।

वहीं जयपुर में पूरे दिन बादल छाए रहे और रूक रूक बूंदाबांदी हुई। इसके साथ ही शाम होते होते कई इलाकों में अच्छी बारिश भी देखने को मिली। जिसके कारण शाम पांच बजे ही अंधेरा छा गया और कोहरा नजर आने लगा। मौसम केन्द्र जयपुर के निदेशक की माने तो जयपुर, सीकर, चूरू, झुंझुनूं, अजमेर, दौसा समेत कई क्षेत्रों में आने वाले दिनों में कोहरा छा सकता है।

वही बात पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू की करें तो यहां का न्यूतनम तापमान सात डिग्री दर्ज किया। भीलवाड़ा में भी एक इंच बारिश हुई। हाड़ौती अंचल के कोटा व बूंदी जिले बारिश से तर हो गए। मौसम विभाग की माने तो सोमवार को नए पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से पूर्वी राजस्थान के कोटा, उदयपुर, अजमेर, जयपुर और भरतपुर संभाग के कुछ भागों में मेघगर्जन के साथ हल्की बारिश हो सकती है।

pc- sj

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में विधानसभा चुनावों के लिए मतदान 25 नवंबर को होगा। ऐसे में सभी पार्टियों के बड़े नेता राजस्थान का दौरा कर रहे है। लेकिन राहुल गांधी के नहीं आने पर चर्चा चल पड़ी है की कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने हार मानली है और इसी कारण बड़े नेता प्रचार नहीं कर रहे है। ऐसे में पार्टी के महासचिव केसी वेणुगोपाल को कहना पड़ा है की भाजपा द्वारा प्रायोजित एक प्रचार तंत्र राजस्थान में कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व को लेकर अफवाहें फैला रहा है।

उन्होंने कहा की कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी राजस्थान में पहुंच रहे हैं। राजस्थान के 8 करोड़ लोगों के साथ कांग्रेस पार्टी का एक अटूट रिश्ता है। केसी वेणुगोपाल ने एक पोस्ट में लिखा, 16 नवंबर से कांग्रेस के शीर्ष नेता राजस्थान के चुनाव में जोरदार प्रचार करेंगे।

पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे 16 नवंबर से तीन दिन के लिए राजस्थान में रहेंगे, इसके बाद राहुल गांधी, चार दिन के लिए वहां रहेंगे। इतना ही नहीं, प्रियंका गांधी तीन दिन के लिए राजस्थान में चुनाव प्रचार करेंगी।

pc- ndtv

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 के लिए मतदान का दिन नजदीक आ रहा है। ऐसे में दोनों पार्टियों के उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल कर दिया है। लेकिन इस बार बागी खेल बिगाड़ते भी नजर आ रहे है। ऐसे में आज 9 नवंबर है और आज नामांकन वापस लेन का दिन है। एसे में आज कांग्रेस और भाजपा के लिए इम्तेहान का दिन है।

आज 3 बजे तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। उसके बाद नामांकन फिक्स हो जाएगा। इधर टिकट नहीं मिलने से भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बागी प्रत्याशियों ने निर्दलीय या अन्य पार्टियों के टिकट पर चुनाव लड़ने का ऐलान करते हुए अपना नामांकन दाखिल कर रखे है जिसके कारण दोनों ही पार्टियों का पसीना भी आ रहा है।

ऐसे में आज पार्टियों के बड़े नेताओं ने बागी प्रत्याशियों को मनाने का प्रयास किया है। आज नामांकन वापस लेने का आखिरी दिन है और कितने प्रत्याशियों को पार्टिया मना पाई हैं यह देखने वाली बात होगी कि कौन-कौन नामांकन वापस लेता है और कौन।

pc-thewire.in

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में चुनावी माहौल इस समय गरमाया हुआ है, नेता लगातार चुनाव प्रचार करने में जुटे है और अपनी अपनी जीत के दावे कर रहे है। ऐसे में कांग्रेस नेता सचिन पायलट भी कहा पीछे रहने वाले है। बुधवार को उन्होंने भी विश्वास जताया कि उनकी पार्टी राजस्थान में हर पांच साल में मौजूदा सरकार को सत्ता से बाहर करने के चलन को तोड़ देगी।

उन्होंने कहा की 25 नवंबर के विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी यहां दोबारा से सरकार बनाएगी। इसके साथ ही सचिन पायलट ने आरोप लगाया कि विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी विकास के मुद्दे से लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है और चुनाव के दौरान धर्म पर बात कर रही है।

बता दें की सचिन पायलट इस समय अपने चुनावी क्षेत्र टोंक में चुनाव प्रचार करने में जुटे है। अपने निर्वाचन क्षेत्र टोंक में उन्होंने कहा कि राजस्थान में 30 साल की परंपरा, बीजेपी के पांच साल, कांग्रेस के पांच साल… वह परंपरा टूटने वाली है।

pc- abp news

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन प्रक्रिया समाप्त हो चुकी है और मतदान 25 नवंबर को होना है। लेकिन अब राजनीतिक पार्टियां पूरे तरह से चुनाव प्रचार में जुटने वाली है। इसी कड़ी में प्रचार के लिए अब एक बार फिर से पीएम मोदी राजस्थान का रूख करने जा रहे है। बता दें की भाजपा ने 40 स्टा प्रचारकों की सूची जारी की है जिसमें पीएम पहले नंबर पर है।

बता दें की पीएम मोदी विधानसभा चुनाव से पहले कल यानी के 9 नवंबर को राजस्थान के दौरे पर आ रहे हैं। इस दिन मोदी उदयपुर में एक जनसभा को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी की सभा की तैयारी जोरो शोरो सेे चल रही है।

बता दें की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9 नवंबर को शाम 4 बजे उदयपुर में जनसभा को संबोधित करेंगे। राजस्थान में आचार संहिता लगने के बाद प्रधानमंत्री मोदी का यह पहला दौरा होगा।
pc- abp news

इंटरनेट डेस्क। पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के बीच कांग्रेस के लिए एक बड़ी खबर है और वो ये की कांग्रेस की दूसरी भारत जोड़ो यात्रा दिसंबर 2023 से फरवरी 2024 के बीच हो सकती है। ऐसे में बता दें की ये यात्रा देश में होने वाले लोकसभा चुनावों पर जरूर असर डालेगी। इस यात्रा को अंतिम रूप इसी तरीके से दिया जा रहा है।

मीडिया रिपोटर्स की माने तो राहुल गांधी गुजरात से मेघालय तक यह यात्रा करेंगे। इस बार यात्रा सिर्फ पैदल नहीं होगी, कुछ दूरी वाहनों से भी तय की जाएगी। खबरों की माने तो इस यात्रा की चर्चा पहले भी हो चुकी है ओर रूट का ऐलान महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नाना पटोले 8 अगस्त कर भी चुके है। इतना ही नहीं कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने सितंबर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि पार्टी भारत जोड़ो यात्रा के दूसरे चरण की योजना बना रही है।

बता दें की राहुल गांधी की पहली भारत जोड़ो यात्रा तमिलनाडु के कन्याकुमारी से 7 सितंबर 2022 को शुरू हुई थी और 30 जनवरी 2023 को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में इसका समापन हुआ था। 145 दिन चली इस यात्रा ने करीब 3570 किमी का सफर तय किया था।

pc- abp news

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में विधानसभा चुनावों के लिए 25 नवंबर को वोटिंग होगी, लेकिन उसके पहले चुनावी माहौल बन चुका है। राजनीतिक पार्टियों की तरफ से प्रचार प्रसार के साथ ही लगातार बयानबाजी का दौर भी जारी है। इस बीच सीएम अशोक गहलोत ने भी भाजपा पर निशाना साधा और बड़ा बयान भी दिया।

मीडिया रिपोटर्स की माने तो सीएम गहलोत ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने जो सात गारंटी दी हैं, उसपर पार्टी को जीत मिलेगी। बीजेपी द्वारा उनके बेटे पर लगाए जा रहे आरोपों पर गहलोत ने कहा कि आरोप लगाना एक बात है, लेकिन भ्रष्टाचार से जुड़ी एक चीज साबित करके दिखाएं।

उन्होंने कहा की राजस्थान में बीजेपी चुनाव पीएम मोदी के चेहरे को आगे लेकर लड़ रही है। ये प्रदेश के साथ मजाक हो रहा है। उन्होंने कहा काम तो यहां स्टेट लीडरशिप को करना है। लेकिन बीजेपी प्रधानमंत्री का चेहरा बताकर जनता को भ्रमित कर रही है।

pc-tv9hindi.com

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान विधानसभा चुनावों की तारीख जैसे जैसे नजदीक आती जा रही है वैसे वैसे ही राजनीतिक महौल गर्माता जा रहा है। इस बीच में सीएम अशोक गहलोत ने पूर्व सीएम वसुंधरा राजे को बहस की चुनौती दे डाली है। सीएम ने कांग्रेस की सात गारंटियों को लेकर वसुंधरा राजे को चुनौती दी है।

मीडिया रिपोटर्स की माने तो अशोक गहलोेत ने कहा की मैं विपक्षी दल की नेता वसुंधरा राजे को चुनौती देता हूं। दरअसल, पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने गुरुवार को कांग्रेस पर निशाना साधा था। कांग्रेस की 7 गारंटियों की आलोचना की थी। इसके जवाब में सीएम गहलोत ने वसुंधरा राजे को बहस के लिए चुनौती दी है।

बता दें की वसुंधरा राजे ने ट्वीट किया था और लिखा था, आश्चर्य होता है जिसकी खुद की वारंटी नहीं, वह कांग्रेस अब लोगों को गारंटी देने लगी है! जनता मूर्ख नहीं है, जो कांग्रेस की झूठी गारंटी में आ जाए। गहलोत जी जाते-जाते राहत का ऐसा जादुई पिटारा खोल रहे हैं, जिसमें दिखावे के अलावा कुछ नहीं है। इसी के जवाब में गहलोत ने वसुंधरा राजे को बहस की चुनौती दी है।

pc- ndtv

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन दाखिल करने का दौर जारी है। इसी कड़ी में शुक्रवार को राजसमंद में भाजपा प्रत्याशी दीप्ती माहेश्वरी ने भी नामांकन दाखिल किया। इस दौरान भाजपा के स्टार प्रचारक और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहे। उन्होंने राजसमंद में भाजपा प्रत्याशी दीप्ती माहेश्वरी की नामांकन सभा को भी संबोधित किया।

इस दौरान उन्होंने प्रदेश की गहलोत सरकार और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। राजनाथ ने कहा जनता का नेताओं पर भरोसा खत्म हो रहा है। ऐसा इसलिए हुआ क्यों नेताओं की कथनी और करनी में अंतर है। विश्वास पर आए इस संकट को कांग्रेस ने और गहरा किया है।

बता दें की राजनाथ सिंह यहीं नहीं रूके, उन्होंने, महिला सुरक्षा, भ्रष्टाचार समेत अन्य मुद्दों पर कांग्रेस को घेरा। राजनाथ सिंह ने कहा- राजस्थान में सांप्रदायिक तत्व तांडव मचा रहे हैं, और आप सो रहे हैं।

pc- india news

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए 25 नवंबर को वोटिंग होगी और इसके पहले उम्मीदवारों के नामों की घोषणा लगातार हो रही है। ऐसे में सवाई माधोपुर सीट से भाजपा ने पहली ही सूची में राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा को उम्मीदवार बनाया है। लेकिन बीच में खबरें ये भी है की किरोड़ी लाल मीणा और भी टिकट चाहते थे लेकिन उनकी पसंद को पार्टी ने नदारद कर दिया।

बीजेपी ने अपनी पांच सूचियों में किरोड़ी लाल मीणा को पूरी तरह दरकिनार किया है। इसको लेकर सियासी गलियारों में जमकर चर्चा हो रही है। बताया जा रहा है की किरोड़ी लाल अपने समर्थक नेताओं को टिकट दिलवाना चाहते थे लेकिन वो पूरी तरह विफल रहे हैं। यहां तक की किरोड़ी लाल अपनी पत्नी गोलमा देवी को भी टिकट नहीं दिला सके।

राजस्थान में राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है कि विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने किरोड़ी लाल मीणा को दरकिनार किया है। इतना ही नहीं उम्मीदवारों की सूची में वसुंधरा राजे के भी कई समर्थक नेताओं के टिकट काटे गए हैं। ठीक ऐसे ही, किरोड़ी लाल मीणा के केवल एक समर्थक नेता राजेंद्र मीणा को टिकट दिया गया है जो उनके भतीजे हैं।

pc- abp news

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती कुछ खास प्लॉन के साथ में काम कर रही है ताकी पार्टी को इन चुनावों में फायदा मिल सके। ऐसे में मायावती ने अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है और अब बाकी बचे दिनों में मायावती चुनाव प्रचार में जुटने वाली है।

बता दें की बसपा सुप्रीमो मायावती ने राजस्थान ही नहीं मध्य प्रदेश में भी अपने प्रत्याशी उतारे हैं। ऐसे में अब मायावती दोनों ही प्रदेशा में चुनावी सभाओं को संबोधित भी करेगी। मीडिया रिपोटर्स की माने तो मायावती 9 जनसभाएं करेंगी।

इन रैलियों के जरिए बसपा की कोशिश होगी कि वह एमपी और राजस्थान में साल 2018 के मुकाबले इस बार ज्यादा सीटों पर जीत हासिल करे। बता दें की मायावती एमपी के साथ साथ राजस्थान में भी चुनाव प्रचार के लिए रैलिया करेगी।

pc- jagran

इंटरनेट डेस्क। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने 11 ऑफिसर, सुपरवाइजर और अन्य पदों पर सीधी भर्ती के लिए आवेदन मांगे है।

शैक्षिक योग्यता- Bachelors Degree, Diploma

पदों का नाम-
सीनियर एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर
एकाउंट्स ऑफिसर
असिस्टेंट एकाउंट्स ऑफिसर
सीनियर टेक्निकल सुपरवाइजर
प्राइवेट सेक्रेटरी

कुल वैकेंसी – 11 पद

महत्वपूर्ण तिथियाँ
नौकरी प्रकाशित होने की तिथि 20-10-2023
आवेदन करने के लिए अंतिम तिथि 13-11-2023

आयु सीमा – उम्मीदवार की अधिकतम आयु 56 वर्ष के अंदर होनी चाहिए।

सिलेक्शन – इस सरकारी नौकरी में इंटरव्यू में प्रदर्शन के अनुसार कैंडिडेट का सिलेक्शन होगा।

सैलरी – वेतनमान 44,900 – 2,09,200/- प्रतिमाह रहेगा

आवेदन कैसे करें – इच्छुक उम्मीदवार ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

pc-logicraysacademy.com

The Congress on Wednesday filed complaints with the Election Commission against the Bharatiya Janata Party leaders Amit Shah and Himanta Biswa Sarma, alleging that they violated the Model Code of Conduct in their speeches ahead of the Assembly polls next month.

A delegation of senior Congress leaders met Chief Election Commissioner Rajiv Kumar and presented a total of eight complaints to him. Two of the complaints pertain to Shah and Sarma’s speeches in Chhattisgarh.

In his speech on October 16, Shah had referred to the killing of a man named Bhuneshwar Sahu during communal violence in April. “To appease and protect their vote-bank, this Bhupesh Baghel government killed Chhattisgarh’s son, Bhuneshwar Sahu,” Shah had said, according to The Hindu.

The BJP has fielded Sahu’s father Ishwar Sahu as a candidate in the Chhattisgarh election.

On October 16, Congress MP Jairam Ramesh had said that Shah’s claims were false and were aimed at inciting communal violence. He said that the state government had taken prompt action and arrested the accused.

In the complaint against Sarma, the Congress referred to the Assam chief minister’s comments at a rally in Chhattisgarh’s Kawardha district on October 18. It said that he had a “clear cut intention to incite sections of society against one another”.

“If one Akbar comes to some place, he calls…

Read more

Bihar Public Service Commission (BPSC) has released the interview call letters for the post of Assistant Prosecution Officer. Eligible candidates will be able to download their call letters from the official website bpsc.bih.nic.in.

The interview is scheduled to be conducted from October 30 to November 3 for a total of 594 candidates. A total of 1480 candidates have been declared qualified in the APO Main examination. The Main exam was held from November 12 to 15, 2022.

The recruitment drive aims to fill up 553 vacancies, of which 188 vacancies are reserved for women candidates.

Steps to download BPSC APO Main 2020 hall ticket

  1. Visit the official website bpsc.bih.nic.in
  2. On the homepage, click on the APO Main 2020 hall ticket download link
  3. Key in your login details and submit
  4. BPSC APO interview call letter will appear on screen
  5. Download and take a printout for future reference

Direct link to BPSC APO Interview call letter 2023.

For more details, candidates are advised to visit the official website here.

Read more

इंटरनेट डेस्क। कांग्रेस की टिकटों के वितरण से पहले दिल्ली में बड़ी बैठक होने जा रही है। इसकों लेकर सीएम गहलोत भी दिल्ली पहुंच गए है। लेकिन जाने से पहले उन्होंने एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने जाते जाते एक बार फिर पायलट कैंप पर तंज कसा साथ ही उन्होंने अपने विधायकों पर लग रहे भ्रष्टाचार के आरोपों का भी बचाव किया।

मीडिया से बातचीत में एक बार फिर से गहलोत ने राज्य सरकार पर 2020 में आए संकट को याद किया और कहा की यदि विधायक भ्रष्ट होते तो 10-10 करोड़ रुपए मिल रहे थे, क्यों नहीं लिए। आरोप लगाना किसी पर भी आसान होता है। उस वक्त राज्यपाल ने विधानसभा बुलाने का समय दिया तो विधायकों की रेट बढ़कर 10, 20 और 40 करोड़ तक पहुंच गई।

उन्होंने बिना नाम लिए कहा की उन्हें कुछ ही विधायकों की जरूरत थी। विधायकों की कुछ शिकायतें हो सकती हैं, लेकिन सभी भ्रष्ट नहीं होते। उन्होंने कहा कि उस समय जिन्होंने 30-35 करोड़ तक लिए उन्हें कोई नहीं देख रहा। मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय मंत्री अमितशाह, धर्मेन्द्र प्रधान और गजेन्द्र सिंह शेखावत पर हमला बोलते हुए कहा कि मध्य प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट की तरह राजस्थान की सरकार गिराने की कोशिश की। इन्हें प्रधानमंत्री का क्या आशिर्वाद प्राप्त था, वो पता नहीं।

pc- abp news

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में चुनावों की तारीख का ऐलान हो चुका है और उसके साथ ही भाजपा की पहली लिस्ट सामने आने के बाद दूसरी लिस्ट को लेकर दिल्ली में बड़ी बैठक आयोजित हुई है। बताया जा रहा है की मंगलवार को जेपी नड्डा और शाह की मौजूदीगी में ये बैठक चली। बैठक में शेष उम्मीदवारों के नाम तय करने की कवायद के तहत पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे समेत राज्य के कई नेता भी मौजूद रहे।

मीडिया रिपेार्ट्स की माने तो करीब छह घंटे तक चली बैठक में राजे के अलावा केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी, गजेंद्र सिंह शेखावत और अर्जुन राम मेघवाल, राजस्थान इकाई के अध्यक्ष सीपी जोशी भी मौजूद रहें।

भाजपा ने 200 सदस्यीय राजस्थान विधानसभा के चुनाव के लिए सात सांसदों समेत 41 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान पहले कर दिया है। वहीं बाकी बचे 159 नामों के लिए लिए मंथन चला है। बताया जा रहा है की इस लिस्ट में कई सांसदों को टिकट दिया जा सकता है।

pc- navbharat

इंटरनेट डेस्क। आप के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा को दिल्ली हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिल गई है। बता दें की राघव चड्ढा को सरकारी बंगला खाली करने के आदेश पर दिल्ली हाई कोर्ट ने रोक लगा दी है। ऐसे में राघव को फिलहाल बंगला खाली नहीं करना होगा। दिल्ली हाईकोर्ट ने निचली अदालत के सरकारी बंगला खाली करने के फैसले पर रोक लगा दी है, अब हाईकोर्ट का अंतिम फैसला आने तक ये रोक जारी रहेगी।

बता दें की पिछले साल पंजाब से राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा को टाइप-6 बंगला आवंटित किया गया था। इसके बाद राघव चड्ढा ने राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ को टाइप-7 आवास के आवंटन का अनुरोध करते हुए एक प्रतिवेदन सौंपा था। इसके बाद राज्यसभा सचिवालय ने राघव चड्ढा को नई दिल्ली में टाइप-7 बंगला आवंटित किया था।

लेकिन ये उन सांसदों के लिए होता है, जो पूर्व केंद्रीय मंत्री, राज्यपाल या मुख्यमंत्री रहे होते हैं। इसके बाद मार्च में उन्हें बताया गया कि आवंटन रद्द कर दिया गया है। क्योंकि टाइप-7 बंगला उनकी पात्रता के अनुसार नहीं था। राज्यसभा सचिवालय के फैसले के खिलाफ राघव चड्ढा कोर्ट पहुंच गए और अब हाईकोर्ट से उन्हें राहत मिल गई है।

pc- abp news